7 महीने बाद रविवार को खुले थे बांके बिहारी मंदिर पर दो दिन के दर्शनों के बाद फिर से बंद हो रहे हैं।

7 महीने बाद रविवार को खुले थे बांके बिहारी मंदिर पर दो दिन के दर्शनों के बाद फिर से बंद हो रहे हैं।
Banke Bihari Temple vrindavan

कोरोना काल में 22 मार्च से वृंदावन के विश्व प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए थे। मंदिर को 'नवरात्रि' के पहले दिन शनिवार को फिर से खोल दिया गया था। मंदिर को फिर से खोलने पर भारी भीड़ इकट्ठा हुई, जिसने मंदिर समिति को एक बड़ी चुनौती का समना करना पड़ा, जब सामाजिक दूरियों के मानदंडों को लागू करने में विफल रही और स्थानीय पुलिस को मदद के लिए बुलाया गया। मंदिर प्रबंधन ने शनिवार शाम से मंदिर की वेबसाइट पर ऑनलाइन पंजीकरण कराने की व्यवस्था की थी। रविवार सुबह से पंजीकरण कराने वाले श्रद्धालुओं को ही दर्शन करने की अनुमति देने की व्यवस्था की गई थी। लेकिन वेबसाइट काम न करने से ऑनलाइन पंजीकरण नहीं हो सके। रविवार को श्रद्धालुओं को लाइन लगाकर बिना पंजीकरण के ही दर्शन कराए गए। मंदिर में करीब 25,000 से अधिक भक्तों ने पूजा-अर्चना की। मंदिर खोलने से पहले,इस के लिए प्रबंधन ने एक नोटिस जारी किया था जिसमें कहा गया था कि एक दिन में केवल 400 भक्तों को अनुमति दी जाएगी। नोटिस में लिखा गया है, "200 श्रद्धालुओं को सुबह 8 बजे से 12 बजे तक पहले स्लॉट में" दर्शन "का मौका मिलेगा। अगले शिफ्ट में 5.30 बजे से 9.30 बजे के बीच 200 अन्य भक्तों को अनुमति दी जाएगी।" 

*सात माह बाद खुले बिहारी जी के पट दो दिन के दर्शनों के बाद फिर से बंद हो रहे हैं।*

मंदिर प्रबंधन ने कहा, "मंदिर 19 अक्टूबर से श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेगा। यह महामारी के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जिला प्रशासन और पुलिस के साथ उचित समन्वय के बाद भगवान कृष्ण के दर्शन के लिए फिर से खुल जाएगा।" समिति ने उन लोगों को भी प्रवेश देने का फैसला किया था जो ऑनलाइन पोर्टल पर खुद को पंजीकृत करने के बाद आते हैं।दोपहर में प्रबंधन ने फैसला लिया 19 तारीख से अगले आदेश तक मंदिर के पट फिर बंद किए जा रहे हैं। ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था शुरू होने के बाद ही मंदिर के पट खोले जाएंगे।

हैलो दोस्तों! Jharkhand Khabri के साथ जुड़ने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया. Jharkhand khabri एक ऐसा प्लेटफार्म है, जहां हम आपको मेनस्ट्रीम मीडिया से गायब हुए, असल मुद्दे बताते हैं. Jharkhand Khabri के ज़रिए हम आप तक बिल्कुल ताजा और कड़क ख़बर पहुंचाते हैं, बिल्कुल आपकी सुबह की चाय की तरह. खबरों के डेली डोज की जिम्मेदारी आप Jharkhand Khabri पर छोड़ दिजिए. आप बस जिंदगी के मजे लिजिए.