पटना हाईकोर्ट के कड़े एतराज के बाद आखिर बिहार सरकार को लगाना ही पड़ा लॉकडाउन।

पटना हाईकोर्ट के कड़े एतराज के बाद आखिर बिहार सरकार को लगाना ही पड़ा लॉकडाउन।

बिहार सरकार ने पूरे प्रदेश में अगले 15 मई तक लॉकडाउन लगाने की घोषणा कर दी है।  कोरोना की तैयारियों को लेकर जिस प्रकार सरकार को प्रश्नांकित किया जा रहा था। उससे लगातार बिहार सरकार पर दबाव था। विपक्ष भी लगातार सरकार को इस सवाल पर घेर रहा था कि आखिर कोरोना से इतनी मौतें होने के बावजूद सरकार क्या कर रही है। कल यानी मंगलवार को हाईकोर्ट ने भी सरकार से लॉकडाउन को लेकर बेहद स्पष्ट शब्दों में सवाल पूछे और कहा कि आखिर सरकार की क्या नीति है कोरोना की व्यवस्था और तैयारियों को लेकर। हाईकोर्ट ने यह भी पूछा कि सरकार कब तक लॉकडाउन लगाएगी।

पटना हाईकोर्ट ने सरकार को जवाब के साथ आज हाई कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए थे। जिसके बाद बिहार सरकार ने अगले 15 मई तक लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है। कोरोना से हो रही मौतों और कोरोना से जुड़ी तमाम समस्याओं को लेकर बिहार सरकार लगातार कटघरे में है। बिहार सरकार पर ऑक्सीजन की आपूर्ति, बेड की व्यवस्था में कमी को लेकर भी लोगों में खासी नाराजगी है। अभी हाल में ही बिहार सहित कई अन्य राज्यों द्वारा टीकाकरण अभियान को शुरू कर पाने में खुद को असमर्थ बताना भी एक चिंता का विषय है।