छत्तीसगढ़ः BSF जवानों के लिए लगा रहा था बम, खुद ही उड़ गया नक्सली, जानिए पूरी कहानी

छत्तीसगढ़ः BSF जवानों के लिए लगा रहा था बम, खुद ही उड़ गया नक्सली, जानिए पूरी कहानी

कांकेर में नक्सलियों के साथ अजीबो-गरीब वाकया हुआ है. उन्होंने बम तो लगाए थे सुरक्षा बलों के लिए लेकिन उनका ही एक आदमी बम की चपेट में आ गया. इस घटना में नक्सलियों के दो साथी भी घायल हो गए. कमाल की बात ये भी है कि नक्सिलयों ने खुद इस बात के पर्चे बांटकर घटना को सार्वजनिक किया.

दरअसल, ये घटना कांकेर के आमाबेड़ा की है. यहां एक नक्सली के शव के चीथड़े पेड़ पर लटके मिले. इस बात के पर्चे उत्तर बस्तर डिवीजनल कमेटी के प्रवक्ता सुखदेव कावड़े ने जारी किए. इनके जरिए बताया गया कि 18 फरवरी को आमाबेड़ा के चुकपाल गांव में सुबह 6.15 बजे एक हादसा हुआ. फोर्स को उड़ाने के लिए बम लगाते वक्त विस्फोट हो गया. इसमें कांकेर के आलदंड, कंदाड़ी निवासी सोमजी उर्फ सहदेव वेड़दा की मौत हो गई. यह डीवीसी मेंबर था.

किसी बड़े हत्याकांड को अंजाम देना चाहते थे नक्सली-

गौरतलब है कि जिस इलाके में यह विस्फोट हुआ वहां आसपास में कई प्रेशर बम लगाए गए थे. जैसे ही घटना घटी नक्सलियों ने तुरंत ये बम वापस निकाल लिए. इससे छोटे-छोटे गड्ढे हो गए हैं. यहां से कुछ दूरी पर बोड़ागांव में BSF का कैंप है. गश्त पर निकलने वाले जवान वापसी में कैंप करीब आने पर कभी-कभी कहीं रुककर आराम करते हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए नक्सलियों ने प्रेशर बम लगाए थे. बताया जाता है कि नक्सली किसी बड़ी घटना को अंजाम देना चाहते थे. इसलिए इतनी ज्यादा संख्या में यहां बम लगाए गए.