पश्चिम बंगाल में हिंसा के विरोध मे बीजेपी ने 5 मई को देशव्यापी धरने का  ऐलान किया

बीजेपी पांच मई को देशव्यापी धरना करने जा रही है।  बीजेपी का आरोप है कि राज्य में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हमला कर रहे हैं, जिसमें कई लोगों की हत्याएं भी की गई हैं।

पश्चिम बंगाल में हिंसा के विरोध मे बीजेपी ने 5 मई को देशव्यापी धरने का  ऐलान किया

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस की जीत के बाद राज्य में हो रहीं कई हिंसक घटनाओं को लेकर बीजेपी ने बड़ा ऐलान किया है। बीजेपी पांच मई को देशव्यापी धरना करने जा रही है।  बीजेपी का आरोप है कि राज्य में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हमला कर रहे हैं, जिसमें कई लोगों की हत्याएं भी की गई हैं।

इसके अलावा, सोमवार को भी राज्य में व्यापक पैमाने पर हिंसा देखने को मिली जिसमें कथित तौर पर झड़प और दुकानों को लूटे जाने के दौरान कई बीजेपी कार्यकर्ताओं की मौत हो गई तो कई घायल हो गए। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से विपक्षी कार्यकर्ताओं पर हमले की घटना में तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। बीजेपी ने एक पार्टी कार्यालय में आगजनी का वीडियो साझा किया है जिसमें बांस की बल्लियां और छत जलती हुई नजर आ रही हैं और परेशान लोगों को चिल्लाते हुए भागते देखा जा रहा है। सोशल मीडिया पर मृत व्यक्तियों की तस्वीरें और एक दुकान से कपड़े लूट कर भागते लोगों की फुटेज वायरल हो रही है।

बीजेपी का दावा है कि उसके कम से कम छह कार्यकर्ता और समर्थक हमलों में मारे गए हैं जिनमें एक महिला भी शामिल है। भाजपा इसका आरोप तृणमूल पर लगा रही है। बीजेपी ने पत्रकारों के साथ एक वीडियो साझा किया जिसमें नंदीग्राम में पार्टी दफ्तर में हुई तोड़फोड़ को दिखाया गया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस सीट पर भाजपा के शुभेंदु अधिकारी से चुनाव हार गई थीं। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने प्रदेश के गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) और कोलकाता के पुलिस आयुक्त को तलब कर उन्हें शांति बहाल करने के निर्देश दिए।