पीएम मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा के निधन पर जताया शोक

पीएम मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा के निधन पर जताया शोक

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर यशपाल शर्मा के निधन पर मंगलवार को दुख व्यक्त किया। पीएम ने उन्हें टीम के साथियों, फैन्स के साथ-साथ उभरते क्रिकेटरों के लिए प्रेरणा बताया। मिडिल ऑर्डर में अपनी जुझारू बल्लेबाजी के कारण भारतीय क्रिकेट में विशेष पहचान बनाने वाले और 1983 वर्ल्ड कप के नायक यशपाल शर्मा का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे 66 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है।

उनके निधन पर प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा, 'श्री यशपाल शर्मा जी 1983 की मशहूर टीम सहित भारतीय क्रिकेट टीम के बहुत प्रिय सदस्य थे। वह टीम के साथियों, फैन्स के साथ-साथ उभरते क्रिकेटरों के लिए एक प्रेरणा थे। उनके निधन से शोक में हूं। उनके परिवार और फैन्स के प्रति मेरी संवेदना है। ओम शांति।'

वहीं राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट कर लिखा कि, 'क्रिकेटर यशपाल शर्मा के निधन की सूचना पाकर बेहद दुख हुआ। 1983 क्रिकेट वर्ल्ड कप में प्रमुख मैचों के दौरान उनके उल्लेखनीय प्रदर्शन ने क्रिकेट इतिहास में भारत की सबसे बड़ी जीत में से एक में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनके परिवार, फैन्स और टीम के सदस्यों के प्रति मेरी गहरी संवेदना।'
बता दें कि यशपाल ने भारत की ओर से कुल 37 टेस्ट और 42 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले। उन्होंने टेस्ट में 1606 और वनडे में 883 रन बनाए। यशपाल ने 2 अगस्त 1979 को क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान से अपने इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरुआत की थी। उन्होंने टेस्ट में 37.45 की औसत से जबकि वनडे में 28.48 की औसत से रन बनाए हैं।  क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई), पंजाब और हरियाणा क्रिकेट के साथ विभिन्न भूमिकाओं में शामिल थे। इसके अलावा उन्होंने 160 फर्स्ट क्लास मैच भी खेले हैं, जिसमें उनके नाम 8933 रन हैं। वहीं, लिस्ट ए में उनके नाम 74 मैचों में 1859 रन दर्ज हैं। फर्स्ट क्लास मैच में उनके नाम एक दोहरा शतक दर्ज हैं।