बीते 24 घंटे में फिर से बढ़ते मौत के आंकड़े, अभी भी है चिंता का विषय

बीते 24 घंटे में फिर से बढ़ते मौत के आंकड़े, अभी भी है चिंता का विषय

अभी बीते दिनों पहले देश में ऐसा लग रहा था कि कोरोना की स्थिति में काफी हद तक नियंत्रण आया है. परंतु बीते 24 घंटों में आए मौत के आंकड़ों ने सबको चौंका कर रख दिया. दरअसल देश में बीते 24 घंटों में 6180 लोगों की मौत हुई है. यह आंकड़े साफ बता रहे हैं कि कोरोना के संक्रमण का खतरा अभी बना हुआ है. प्रधानमंत्री ने भी कई बार अपने संबोधन में इस बात का जिक्र किया है कोरोना एक अदृश्य दुश्मन है, जिसे मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग की मदद से दूर रखा जा सकता है. इसका स्थाई इलाज टीकाकरण है. परंतु इसके बाद भी कोरोना के मामलों से इतनी मौतें हो गई. इसका एक विशेष कारण यह भी है कि कई राज्यों की राज्य सरकार द्वारा जैसे ही अनलॉक लगाया गया, लोगों द्वारा लापरवाही साफ देखने को मिली. परंतु हमें यह समझना होगा की हमें बचाव के उपाय पर अमल करने की जरूरत है, वरना हम तीसरी लहर को दावत देने का काम कर रहे हैं.

बीते दिनों बिहार में भी मौत के आंकड़े काफी बढ़ गए इससे यह साफ पता चल रहा था कि सरकार के द्वारा किया गया अनलॉक भले कुछ व्यापारी वर्गों के लिए राहत की खबर हो परंतु कोरोना से निजात पाने का अभी भी लॉकडाउन ही सबसे कारगर उपाय है. बिहार में बढ़े मौत के आंकड़ो को लेकर विपक्ष भी सरकार पर हमलावर हो गई है. सरकार भी इन हमलों का जवाब दे रही है. परंतु यह आम नागरिक का भी कर्तव्य है कि वह इस भीषण संकट में सरकार का सहयोग करें और इस अदृश्य दुश्मन से चल रही लड़ाई में जल्द से जल्द जीत हासिल करे.