गांजा माफिया गिरफ्तार आम की टोकरी में छुपाकर कर रहा था तस्करी

गांजा माफिया गिरफ्तार आम की टोकरी में छुपाकर कर रहा था तस्करी

ओडिशा के गंजाम से आम की टोकरी की आड़ में छुपाकर पूर्वी सिंहभूम जिले के सीमा क्षेत्र बहरागोड़ा से जमशेदपुर लाया गया था। यहां से शहर के बागबेड़ा में कुछ गांजा उतारा जाना था। बाकी माल बिहार के रोहतास ले जाना था।

जमशेदपुर, जासं। पूर्वी सिंहभूम जिले के जमशेदपुर के साकची गोलचक्कर के पास नारकोटिक्स विभाग की टीम ने बुधवार देर शाम मिनी ट्रक से सात क्विंटल के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें जमशेदपुर के बागबेड़ा थाना क्षेत्र कीताडीह ग्वाला पट्टी के दीपक कुमार, परसुडीह के राहरगोड़ा निवासी अर्जुन कुमार यादव, बिहार के रोहतास जिले के सोनी टोला के संजौली के कृष्णा चौधरी और विकास कुमार शामिल हैं।

जब्त गांजा को ओडिशा के गंजाम से आमों की टोकरी की आड़ में छुपाकर पूर्वी सिंहभूम जिले के सीमा क्षेत्र बहरागोड़ा से जमशेदपुर लाया गया था। यहां से शहर के बागबेड़ा में कुछ गांजा उतारा जाना था। बाकी माल बिहार के रोहतास ले जाना था। इसके लिए वाहन साकची से होते बागबेड़ा जा रहा था। विभाग की टीम ने साकची थाना की पुलिस के सहयोग से वाहन को पकड़ लिया। जब्त गांजा की कीमत लाखों में है।

पहले भी हो चुकी है गिरफ्तारी
विभाग के अधिकारियों ने ओडिशा से ही ट्रक का पीछा करते हुए जमशेदपुर के साकची गोलचक्कर तक आए इसके बाद वाहन को रोकवाया। वाहन की तलाशी लिए जाने पर आमों के टोकरी के बीच छुपाकर रखे गए गांजा को बरामद किया गया जो अलग-अलग पैकेट में बंधे हुए थे। इसे जब्त किया गया। वैन के चालक को इसकी जानकारी नहीं थी। गिरफ्तार आरोपितों ने ओडिशा के किसी सप्लायर के माध्यम से वाहन बुक कराया था। इससे पहले भी जिले के बहरागोड़ा में ओडिशा से बिहार ले जाए जा रहे भारी मात्रा में गांजा मार्च 2020 में बरामद किए गए थे। मामले में गिरफ्तार चारों आरोपित बिहार के पटना के रहनेवाले थे। ओडिशा से जमशेदपुर के रास्ते बिहार और बंगाल गांजा ले जाते कई बार गिरोह के सदस्य पकड़े जा चुके हैं।

व्यापक पैमाने पर फल-फूल रहा धंधा

जमशेदपुर गांजा के तस्करों का बडा केंद्र बन गया है। यहां गांजा की खरीद-बिक्री का धंधा व्यापक पैमाने पर फल-फूल रहा है।  गांजा बरामदगी के मामले इसकी तस्दीक करते हैं।

 जमशेदपुर में नारकोटिक्स विभाग की टीम ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है।