तस्करों के चंगुल से मुक्त कराकर झारखंड लाई गई बच्चियों से हेमंत सोरेन मुलाकात किए

तस्करों के चंगुल से मुक्त कराकर झारखंड लाई गई बच्चियों से हेमंत सोरेन मुलाकात किए
Hemant Soren

रांची- मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शनिवार को अपने आवास पर तस्करों के चंगुल से मुक्त कराकर झारखंड लाई गई बच्चियों से मुलाकात की। इनमें ज्यादातर बच्चियों को तस्करों ने झारखंड से दिल्ली ले जाकर बेच दिया था, जहां इनसे दाई का काम कराया जाता था। मुलाकात के दौरान बच्चियों ने मुख्यमंत्री से कहा कि वे अब वापस घर नहीं जाना चाहते हैं।इस दौरान बच्चों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि जो बच्चे अभी नाबालिग हैं उन्हें बालिग होने तक प्रति माह दो हजार रुपए दिए जाएंगे। ऐसे बच्चे जो बालिग हो गए हैं उन्हें सरकार की तरफ से काम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो बच्चे पढ़ना चाहते हैं उन्हें आगे की शिक्षा देने में सरकार मदद करेगी और जो बच्चे काम करना या घर जाना चाहते हैं उन्हें सरकार घर तक पहुंचाएगी।

हैलो दोस्तों! Jharkhand Khabri के साथ जुड़ने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया. Jharkhand khabri एक ऐसा प्लेटफार्म है, जहां हम आपको मेनस्ट्रीम मीडिया से गायब हुए, असल मुद्दे बताते हैं. Jharkhand Khabri के ज़रिए हम आप तक बिल्कुल ताजा और कड़क ख़बर पहुंचाते हैं, बिल्कुल आपकी सुबह की चाय की तरह. खबरों के डेली डोज की जिम्मेदारी आप Jharkhand Khabri पर छोड़ दिजिए. आप बस जिंदगी के मजे लिजिए.