दिल्ली में ऑक्सीजन के लिए मारामारी, रिफिलिंग प्लांट के बाहर कल से खड़े लोग 

दिल्ली में ऑक्सीजन के लिए मारामारी, रिफिलिंग प्लांट के बाहर कल से खड़े लोग 

देश की राजधानी दिल्ली में इस वक्त कोरोना की आंधी चल रही है. हर दिन दिल्ली में हजारों केस आ रहे हैं, तो वहीं लोगों को बेड और ऑक्सीजन के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. सोमवार सुबह दिल्ली से एक ऐसी ही तस्वीर सामने आई जहां ऑक्सीजन सिलेंडर भरवाने के लिए लोगों की लंबी लाइन लगी हुई है. 

दिल्ली के नारायणा ऑक्सीजन फिलिंग प्लांट पर लोगों की लंबी कतार हैं, जहां सैकड़ों की संख्या में लोग ऑक्सीजन का इंतजार कर रहे हैं. यहां अस्पतालों से एम्बुलेंस भी आई हुई हैं, जो ऑक्सीजन सिलेंडर ले जाने आई हैं. 

कतार में खड़े लोगों का कहना है कि वो बीते दिन से ही यहां पर ऑक्सीजन का इंतजार कर रहे हैं, सुबह चार बजे के करीब ऑक्सीजन का टैंकर आया था. लेकिन, लोगों को अभी तक ऑक्सीजन नहीं दिया जा रहा है. 

यहां ऑक्सीजन प्लांट के बाहर खड़ी पुलिस का कहना है कि वो अभी SDM का इंतजार कर रहे हैं, एसडीएम ही ऑक्सीजन रिलीज के आदेश पर साइन करेंगे. इसके अलावा अभी कुछ तकनीकी समस्या भी है. 

गौरतलब है कि ऑक्सीजन के मामले में इस वक्त दिल्ली की हालत काफी खराब है. दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी है, कुछ अस्पतालों में बिल्कुल ऐन वक्त पर सप्लाई हो रही है. अभी तक आधा दर्जन अस्पतालों को ऑक्सीजन की सुचारू रूप से सप्लाई करवाने के लिए हाईकोर्ट का रुख करना पड़ा है. 

दिल्ली सरकार ने मांगी मदद

केंद्र सरकार की ओर से दिल्ली का ऑक्सीजन कोटा बढ़ाया गया है. सोमवार रात को ही दिल्ली में ऑक्सीजन एक्सप्रेस पहुंचने वाली है, जिसमें करीब 70 टन ऑक्सीजन आ रही है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि दिल्ली को इससे कुछ राहत मिल सकती है. 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी बीते दिन देश के बड़े उद्योगपतियों को चिट्ठी लिखी है. जिसमें उन्होंने ऑक्सीजन की कमी से जूझ रही दिल्ली को मदद करने की अपील की है, इस दौरान ऑक्सीजन, कंटेनर्स, सिलेंडर की मदद मांगी गई है. 

दिल्ली में कोरोना का हाल

• 24 घंटे में आए कुल केस: 22,933

• 24 घंटे में हुई कुल मौतें: 350

• एक्टिव केस की संख्या: 94,592

• कुल केसों की संख्या: 10,27,715

• अबतक हुई मौतें: 14,248