ICC का BCCI को अल्टीमेटम:टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारियों के लिए बोर्ड को 28 जून तक का वक्त दिया, फेल हुए तो UAE शिफ्ट होगा टूर्नामेंट

ICC का BCCI को अल्टीमेटम:टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारियों के लिए बोर्ड को 28 जून तक का वक्त दिया, फेल हुए तो UAE शिफ्ट होगा टूर्नामेंट

टी-20 वर्ल्ड कप की मेजबानी को लेकर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) आज बातचीत करेंगे। इसके लिए बोर्ड प्रेसिडेंट सौरव गांगुली, सचिव जय शाह और वाइस-प्रेसिडेंट राजीव शुक्ला समेत बोर्ड के टॉप अधिकारी UAE पहुंच चुके हैं। वर्ल्ड कप में अब सिर्फ साढ़े 4 महीने का वक्त बचा है। ऐसे में वेन्यू और तारीखों को लेकर भी दोनों के बीच चर्चा हो सकती है।

बोर्ड फिलहाल ICC से कुछ भी फाइनल करने से पहले 1 महीने का वक्त मांग सकता है। इसके साथ ही पाकिस्तानी खिलाड़ियों को इस टूर्नामेंट के लिए वीजा देने पर भी बातचीत हो सकती है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) कई बार ICC से वीजा नहीं मिलने को लेकर शिकायत कर चुका है। आपको बताते हैं वह 6 मुद्दे जिन पर मीटिंग में फोकस रखा जा सकता है...

1. टी-20 वर्ल्ड कप 

 इस मीटिंग का मेन मोटिव टी-20 वर्ल्ड कप ही रहने वाला है। ICC इतनी जल्दी भारत से मेजबानी छीनकर UAE को नहीं सौंप सकता है। जब IPL कैंसिल हुआ था, तब भारत में कोरोना के मामले पीक पर थे। पर पिछले कुछ दिनों में इसमें कमी आई है।

ऐसे में BCCI एक महीने का वक्त लेकर स्थिति की समीक्षा करना चाहता है। बोर्ड ने 29 मई को राज्य क्रिकेट संघों को बताया था कि वह इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) से वर्ल्ड कप को लेकर एक महीने का और वक्त मांगेगा।

इसके साथ ही BCCI इसे UAE में कराने को लेकर भी विचार कर सकता है। हालांकि, प्लान-B के कम चांसेज हैं। UAE में 18-19 सितंबर से लेकर 10 अक्टूबर तक IPL भी होना है। ऐसे में वर्ल्ड कप भी UAE में होने पर ICC को स्टेडियम सिर्फ 1 हफ्ते पहले ही मिल पाएगा, जो कि एक इंटरनेशनल इवेंट की तैयारियों के हिसाब से उचित नहीं दिखता।

2. टैक्स में छूट 

 2016 टी-20 वर्ल्ड कप के बाद से ही BCCI और ICC के बीच टूर्नामेंट होस्ट करने को लेकर टैक्‍स में छूट देने को लेकर चर्चा हो रही है। बोर्ड इस मामले को कई बार भारत सरकार के सामने उठा भी चुका है। हालांकि अभी तक इस पर कोई नतीजा नहीं निकला।

अगर केंद्र सरकार टैक्स में 10% की भी छूट देती है, तो बोर्ड को करीब 226 करोड़ रुपए चुकाने होंगे। वहीं, कोई भी छूट नहीं देने की स्थिति में BCCI को वर्ल्ड कप कराने के लिए 906 करोड़ रुपए देने होंगे। अगर बोर्ड सरकार से छूट की व्‍यवस्‍था नहीं कर पाता है तो उसे ICC के 905 करोड़ रुपए के रेवेन्‍यू से हाथ धोना पड़ सकता है।

3. पाकिस्तान टीम को वीजा 

 PCB कई मौकों पर BCCI पर वीजा नहीं देने का आरोप लगा चुका है। हालांकि बोर्ड ने कहा है कि पाकिस्तानी टीम को सुरक्षा के साथ एंट्री दी जाएगी। पर ICC इस मुद्दे को बोर्ड के सामने उठा सकता है। टी-20 वर्ल्ड कप में 16 टीमें हिस्सा लेंगी और इसके लिए 9 वेन्यू चुने गए हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच पिछली द्विपक्षीय सीरीज 2012 में खेली गई थी।

वहीं, 2016 में पाकिस्तान टीम टी-20 वर्ल्ड कप खेलने भारत आई थी। हालांकि इसके बाद सीज-फायर और पुलवामा अटैक जैसे कई गंभीर मुद्दों की वजह से भारत सरकार ने पाकिस्तान के साथ किसी भी तरह के संबंध तोड़ दिए थे। ICC BCCI को भारत सरकार से इस मुद्दे पर बातचीत करने के लिए कह सकता है।

4. ICC वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 

 2018 में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के पहले संस्करण की शुरुआत हुई थी। 2019 तक सब कुछ सही चला, लेकिन 2020 में कोरोना की वजह से कई सीरीज रद्द करनी पड़ीं। इसका असर सीधे पॉइंट्स टेबल पर पड़ा और ICC क्रिकेट कमेटी को इसके नियम में बदलाव करने पड़े।

इसके मुताबिक, भारत और न्यूजीलैंड 18 जून से फाइनल खेलेंगे। हालांकि कई देशों के क्रिकेट बोर्ड और खिलाड़ियों ने नए पॉइंट पर्सेंट सिस्टम पर सवाल भी उठाए थे। ऐसे में ICC इसे 2023 तक स्थगित कर सकता है।

5. फ्यूचर टूर प्रोग्राम (FTP)

 मौजूदा FTP को कोरोना की वजह से काफी नुकसान हुआ है। ऐसे में ICC आने वाले समय में कोरोना को देखते हुए कुछ महत्वपूर्ण निर्णय ले सकता है। इसमें क्रिकेट खेलने वाले छोटे देशों को तरजीह दी जा सकती है। कोरोना की वजह से क्रिकेट खेलने वाले एशिया के कई छोटे देशों को काफी घाटा हुआ था। इसके साथ ही 2023 से 2031 के बीच के फ्यूचर टूर प्रोग्राम पर भी चर्चा हो सकती है।

मीटिंग में वनडे वर्ल्‍ड कप में टीमों की संख्‍या को 10 से 14 करने के फैसले पर भी मुहर लग सकती है। अभी 10 टीमें राउंड रॉबिन फॉर्मेट में मैच खेलती हैं। इसके बाद टॉप-4 टीमें सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई करती हैं। 2027 वर्ल्ड कप से इसे ग्रुप लीग राउंड और सुपर-6 फॉर्मेट पर खेला जा सकता है।

6. एक ICC इवेंट हर साल 

 2019 में ICC ने फैसला लिया था कि एक क्रिकेटिंग साइकिल में कम से कम 8 ICC इवेंट कराए जाएंगे। हालांकि BCCI समेत बिग-3 नेशंस ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई थी। पर कोरोना की वजह से हुए नुकसान के बाद बिग-3 8 इवेंट्स के पक्ष में आ गया है।

इसके साथ ही चैंपियंस ट्रॉफी को हटाकर टी-20 वर्ल्ड कप को जोड़ा गया था। 2023-31 साइकिल में ICC चैंपियंस ट्रॉफी को वापस लाया जा सकता है। इसके साथ ही इसमें एसोसिएट देशों को भी क्वालिफाई करने का मौका दिया जा सकता है।