ब्लैक फंगस के बाद व्हाइट फंगस का खतरा अधिक, स्वामी रामदेव से जानें बचने का उपाय

Healthy tips

ब्लैक फंगस के बाद व्हाइट फंगस का खतरा अधिक, स्वामी रामदेव से जानें बचने का उपाय

व्हाइट फंगस से बचने के लिए जरूरी कि आप अपनी इम्यूनिटी को मजबूत करने के साथ क्रोनिक डिजीज जैसे ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर आदि को कंट्रोल रखें। साथ ही रोजाना ये प्राणायाम और योगासन करे।

कोरोना महामारी के बीच ब्लैक फंगस के बाद अब व्हाइट फंगस ने दस्तक दे दी है। जिससे हर किसी की मुश्किलों बड़ गई है।  बिहार की राजधानी पटना में व्हाइट फंगस  के चार मरीज सामने आए हैं।  स्वामी रामदेव के अनुसार ब्लैक फंगस  से कई गुना ज्यादा खतरनाक व्हाइट फंगस है।  लो इम्यूनिटी, स्टेरॉयड लेने वाले मरीजों के अलावा ब्लड शुगर के मरीजों को सबसे अधिक खतरा है। 
ब्लैक फंगस से 4 गुना ज्यादा खतरनाक है व्हाइट फंगस, डॉक्टर्स से जानें लक्षण और कैसे करें बचाव
व्हाइट फंगस से बचने के लिए जरूरी कि आप अपनी इम्यूनिटी को मजबूत करने के साथ क्रोनिक डिजीज जैसे ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर आदि को कंट्रोल रखें। जानिए ऐसे कुछ योगासन, प्राणायाम और आयुर्वेदिक उपाय जिनके द्वारा व्हाइट फंगस से बचा जा सकता है।  


क्या है व्हाइट फंगस?
ब्लैक फंगस के चार गुना ज्यादा खतरनाक व्हाइट फंगस है। यह शरीर के कई हिस्सों को नुकसान पहुंचाता है। इससे फेफड़ों में संक्रमण फैलता जाता है। इससे किडनी, मुंह, स्किन और दिमाग पर भी इसका असर नजर आता है। छोटे बच्चों पर भी व्हाइट फंगस का असर पड़ रहा है। 
मंडूकासन

•डायबिटीज को करे कंट्रोल

•पेट और हृदय के लिए भी लाभकारी

•कंसंट्रेशन की क्षमता बढ़ती है

•पाचन तंत्र सही करने में सहायक

•लीवर, किडनी को स्वस्थ रखता है

•वजन घटाने में मदद करता है

•पैन्क्रियाज से इंसुलिन रिलीज करता है

•डायबिटीज को रोकने में सहायक

•गैस और कब्ज की समस्या दूर होती है 

•लो इम्यूनिटी, डायबिटीज के मरीजों को ब्लैक फंगस का अधिक खतरा, स्वामी रामदेव से जानें बचने का उपाय
शशकासन

•डायबिटीज करे कंट्रोल

•तनाव और चिंता दूर होती है

•मानसिक रोगों से मुक्ति मिलती है

•माइग्रेन के रोग में फायदेमंद

•मोटापा कम करने में मददगार

•लीवर, किडनी के रोग दूर होते हैं

•दिल के मरीजों के लिए लाभकारी

•लंबाई बढ़ाने में मददगार

अब घर बैठे कर पाएंगे कोरोना टेस्ट, ICMR ने टेस्ट किट को दी मंजूरी
योगमुद्रासन

फेफड़ों की कार्यक्षमता बढ़ाए

शरीर को लचीला बनाए

रीढ़ की हड्डी को मजबूत करे

पीठ, बाहों को बनाए मजबूत

मकरासन

हाइट बढ़ाने में करे मदद

वजन कम करने में मददगार

कमर दर्द से दिलाए राहत

जोड़ों के दर्द में लाभकारी

एसिडिटी से दिलाए राहत

भुजंगासन

दिल के मरीजों के लिए फायदेमंद है।

मजबूत लंग्स से सर्दी की बीमारी नहीं होती है।

पेट से जुड़े रोगों में कारगर है।

मोटापा कम करने में मदद करता है।

फेफड़े, कंधे और सीने को स्ट्रेच करता है। 

रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है।

आसन से लंग्स मजबूत होते हैं। 

शलभासन

फेफड़े सक्रिय होते हैं

तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाता है

खून को साफ करता है

शरीर को मजबूत और लचीला बनाता है

हाथों और कंधों की मज़बूती बढ़ाता है

मर्कटासन

रीढ़ की हड्डी लचीली बनती है

पीठ का दर्द दूर हो जाता है

फेफड़ों के लिए फायदेमंद 

पेट संबंधी समस्या दूर होती है

एकाग्रता बढ़ती है 

गुर्दे, अग्नाशय, लीवर सक्रिय होते हैं

पवनमुक्तासन

फेफड़े स्वस्थ और मजबूत रहते हैं

अस्थमा, साइनस में लाभकारी

किडनी को स्वस्थ रखता है

ब्लड प्रेशर को सामान्य रखता है

पेट की चर्बी को दूर करता है

मोटापा कम करने में मददगार

हृदय को सेहतमंद रखता है

ब्लड सर्कुलेशन ठीक होता है

रीढ़ की हड्डी मज़बूत होती है

त्रिकोणासन

शरीर बैलेंस होगा।

गर्दन, पीठ को मजबूत बनाने में कारगर

लंबाई बढ़ाने में कारगर

पेट की चर्बी करने में मददगार

पादहस्तासन

दिल से जुड़ी बीमारी

पेट की चर्बी

लंबाई बढ़ाने

दिमाग में रक्त का संचार में फायदेमंद

उष्ट्रासन

किडनी को स्वस्थ बनाता है

मोटापा दूर करने में सहायक

शरीर का पोश्चर सुधरता है

पाचन प्रणाली को ठीक होती है

टखने के दर्द को दूर भगाता है

कंधों और पीठ को मजबूत करता है

पीठ दर्द में बेहद लाभकारी 

फेफड़ों को स्वस्थ बनाने में मददगार

व्हाइट फंगस से बचाव के लिए प्राणायाम

अनुलोम विलोम

कपालभाति

भस्त्रिका

व्हाइट फंगस से बचाव के लिए आयुर्वेदिक उपाय

नीम, तुलसी, गिलोय की वटी की रोजाना गोली लें।

कायाकल्प खाली पेट खाएं।

रोजाना खाली पेट 2 चम्मच गौधन अर्क पिएं। अगर एसडिटी की समस्या हैं तो एक चम्मच शहद मिला लें।

गाय के घी, तिल, सरसों का दीपक घर पर जलाएं। 

पानी में दिव्य तेल डालकर स्टीम लेने से भी आपको लाभ मिलेगा। 

नाक में तेल डाल लें। इसमें आप सरसों, अण तेल या फिर क्षणबिंदु तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

 मेधावटी का सेवन करे। 

आंवला, एलोवेरा, गिलोय, तुलसी का रस आपकी इम्यूनिटी बूस्ट करेगा। जिससे आप ब्लैक फंगस से अपना बचाव कर पाएंगे। 

दूध में हल्दी, शीलाजीत, केसर और च्यवनप्राश डालकर सेवन करे। 

इम्यूनिटी बूसट करने के लिए एनिमोग्रिट वटी का सेवन करे।

ब्राह्मी, शंखपुष्पी का सेवन करे। 

दिल को हेल्दी रखने के लिए दालचीनी और अर्जुन की छाल का काढ़ा पिएं।