अफगानिस्तान से लौटी जर्मनी और इटली की सैन्य टुकरिया

हैरात एयरपोर्ट पर दिखे इटालियन और जर्मन सैनिक

अफगानिस्तान से लौटी जर्मनी और इटली की सैन्य टुकरिया

अमेरिकी सैनिकों के बाद अब इटली और जर्मनी के सैनिक की भी हुई अफगानिस्तान से वापसी 

अफगानिस्तान में तैनात जर्मनी और इटली के सैनिकों की आखिरी टुकड़ी की भी बुधवार को वापसी हो गई जहां पर उनका सादे समारोह में स्वागत किया गया। करीब 20 साल पहले यूरोपीय सैनिकों की पहली तैनाती अफगानिस्तान में की गई थी। इन सैनिकों की वापसी अन्य यूरोपीय सहयोगी देशों द्वारा हाल के दिनों और सप्ताह में बिना किसी बड़े समारोह के अपने सैनिकों के बुलाने के बाद हुई।

इसके साथ ही अफगानिस्तान में पश्चिमी देशों के अभियान का समापन हो रहा है क्योंकि स्वयं अमेरिका अपने सैनिकों की वापसी कर रहा है।

कई देशों की घोषणा से स्पष्ट हो गया है कि अधिकतर यूरोपीय देशों के सैनिक अफगानिस्तान से वापस जा चुके हैं लेकिन नाटो ने अबतक नहीं बताया कि मिशन में सहयोग करने के लिए अब कितने देशों के सैनिक बचे हैं। जर्मनी ने बयान जारी कर सार्वजनिक रूप से 20 वर्ष से अफगानिस्तान में तैनात अपने सभी सैनिकों की वापसी की घोषणा की। यहां के रक्षा मंत्रालय ने जर्मन सैनिकों को लेकर विमान के मंगलवार शाम को अफगानिस्तान से उड़ान भरने के बाद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। तीन मालवाहक विमान बुधवार दोपहर उत्तरी जर्मनी के वुनस्टोर्फ हवाई ठिकाने पर उतरे। अफगानिस्तान से लौटे सैनिक मास्क पहने हुए थे और उनके स्वदेश लौटने पर संक्षिप्त समारोह आयोजित किया गया था। कोरोना वायरस की वजह से बड़े पैमाने पर स्वागत समारोह आयोजित नहीं किया गया।