JNU हिंसा मामला : दिल्ली पुलिस ने खुद को दी क्लीन चिट!

JNU attack

JNU हिंसा मामला : दिल्ली पुलिस ने खुद को दी क्लीन चिट!
JNU attack

JNU में इस साल 5 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में जांच कर रही दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने लोकल पुलिस को क्लीन चिट दे दी है.5 जनवरी 2020 को लगभग 100 नकाबपोश लोग लाठी-डंडे के साथ यूनिवर्सिटी कैंपस में घुसे थे और चार घंटों तक विश्वविद्यालय के अंदर लाठी और डंडों के साथ उत्पात मचाते रहे थे. जिसमें 36 छात्र, शिक्षक और कर्मचारी घायल हो गए थे.

 इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस पर लापरवाही के आरोप लगे थे. पुलिस पर आरोप लगाया गया था कि पुलिस जानकर यूनिवर्सिटी कैंपस के अंदर नहीं गई थी. इस मामले पर अब दिल्ली पुलिस ने जवाब दिया है.

हाईकोर्ट के आदेश अनुसार इंस्पेक्टर यादव की ड्यूटी 5 जनवरी को एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक में लगी हुई थी, ताकि VC ऑफिस से लेकर ब्लॉक के 100 मीटर के दायरे में कोई धरना या विरोध प्रदर्शन नहीं हो. इसी ब्लॉक में वीसी ऑफिस है.

कमेटी ने अपनी रिपोर्ट मे ये भी साफ कर दिया है कि शाम के 3.45 से लेकर 4.15 तक पुलिस PCR पर 8 ऐसे कॉल आए थे जिनमें पेरियार हॉस्टल मे छात्रों पर हो रहे हमले की बात हुई थी. और उसके बाद 14 कॉल 4.15 से 6 बजे के बीच आए थे जिनमें छात्रों के बीच हो रहे झगड़े की बात हुई थी.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, “विभाग के उच्च अधिकारी का कहना है कि PCR पर कॉल आने का सिलसिला दोपहर 2.30 बजे से ही शुरू हो गया था, लगभग 23 कॉल उस समय परिसर से PCR पर किए गए थे. 

जांच के दौराना पता चला है कि घटना वाले दिन जेएनयू कैंपस के अंदर से दिल्ली पुलिस को 23 पीसीआर कॉल आईं थीं. इन कॉल में बताया गया था कि छात्रों के बीच मारपीट हो रही है. डीसीपी देवेंद्र आर्या 5 बजे के करीब कैंपस में गए थे लेकिन उस समय स्थिति सामान्य हो चुकी थी. खबर है कि फैक्ट फाइंडिंग कमिटी ने जांच में पाया है कि जेएनयू में घटना वाले दिन की शुरुआत में माहौल थोड़ा तनावपूर्ण हो गया था लेकिन पुलिस की दखल के बाद स्थिति सामान्य हो गई थी.

हैलो दोस्तों! Jharkhand Khabri के साथ जुड़ने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया. Jharkhand khabri एक ऐसा प्लेटफार्म है, जहां हम आपको मेनस्ट्रीम मीडिया से गायब हुए, असल मुद्दे बताते हैं. Jharkhand Khabri के ज़रिए हम आप तक बिल्कुल ताजा और कड़क ख़बर पहुंचाते हैं, बिल्कुल आपकी सुबह की चाय की तरह. खबरों के डेली डोज की जिम्मेदारी आप Jharkhand Khabri पर छोड़ दिजिए. आप बस जिंदगी के मजे लिजिए.