किसानों ने कहा- हमने नए कृषि कानून नहीं, फसलों के दाम बढ़ाने की मांग की थी

किसानों ने कहा- हमने नए कृषि कानून नहीं, फसलों के दाम बढ़ाने की मांग की थी

केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों को लेकर गतिरोध अब भी बरकरार है। कानूनों को रद्द कराने पर अड़े किसान इस मुद्दे पर सरकार के साथ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर चुके हैं। इसके लिए दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन आज 22वें दिन भी जारी है। किसानों ने सरकार से जल्द उनकी मांगें मानने की अपील की है। वहीं सरकार की तरफ से यह साफ कर दिया गया है कि कानून वापस नहीं होगा, लेकिन संशोधन संभव है। 

 कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में सिंघु बॉर्डर के निकट प्रदर्शन कर रहे किसानों का समर्थन करते हुए करनाल जिले के निसिंग इलाके के सिंघरा गांव के रहने वाले एक सिख संत राम सिंह (65) ने बुधवार शाम को कथित रूप से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने कहा कि मृतक संत राम सिंह ने कथित रूप से पंजाबी भाषा में हाथ से लिखा एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें कहा गया है कि वह किसानों का दर्द सहन नहीं कर पा रहे हैं। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।