मनीष सिसोदिया ने कहा एक्सपर्ट से बात करके केंद्र ले फैसला,12वीं के बच्चों को वैक्सीन देने की वकालत

मनीष सिसोदिया ने कहा एक्सपर्ट से बात करके केंद्र ले फैसला,12वीं के बच्चों को वैक्सीन देने की वकालत

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने साफ किया है कि CBSE के 12वीं के एग्जाम ऑनलाइन नहीं हो सकते. उन्होंने ये बयान स्कूल टीचर्स और अभिभावकों से ऑनलाइन एग्जाम को लेकर सुझाव (Invite Suggestion For 12th Exam) लेने के बाद दिया. मनीष सिसोदिया ने आज सोशल मीडिया के जरिए एग्जाम को लेकर सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के प्रिंसपल, टीचर्स और अभिभावकों से सुझाव मांगे थे.

इस बात पर आम सहमति बनी कि महामारी के समय में बिना वैक्सीनेशन एग्जाम (Exam Without Vaccination Dangerous) कराना स्टूडेंट्स और टीचर की जान को मुसीबत मे डालने जैसा है. ज्यादातर टीचर्स का कहना था कि बोर्ड एग्जाम नहीं कराए जाने चाहिए. वहीं स्टूडेंट्स ने भी 12वीं के एग्जाम को रद्द किए जाने की माग भी की.

एग्जाम कराने से कोरोना और फैलने का खतरा

सभी ने ये चिंता जताई कि एग्जान कराए जाने से एग्जाम सेंटर्स पर कोरोना संक्रमण फैल सकता है. टीचर्स ने इस बात पर जोर दिया कि एग्जाम से ज्यादा स्टूडेंट्स की लाइफ जरूरी है. साथ ही जल्द से जल्द स्टूडेंट्स की वैक्सीनेशन पर जोर दिया गया. ऑनलाइन बैठक में प्रिंसिपलों ने सुझाव देते हुए कहा कि बोर्ड टीचर्स पर भरोसा करे और ऑप्शनल एग्जाम के लिए उनके सुझावों पर विचार करे. डिप्टी सीएम से बातचीत में स्टूडेंट्स ने भी एग्जाम न कराए जाने की अपील की.

डिप्टी सीएम ने 12वीं के एग्जाम को लेकर मांगे सुझाव

बतादें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में CBSE के 12 एग्जाम और नीट एग्जाम को लेकर आज एक हाई लेवल बैठक हुई. इस बैठक में शिक्षा मंत्री पोखरिया, स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर मौजूद रह.