कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे जितिन प्रसाद का भाजपा में शामिल होना विपक्ष के लिए खड़ी कर सकता है बड़ी चुनौती

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे जितिन प्रसाद का भाजपा में शामिल होना विपक्ष के लिए खड़ी कर सकता है बड़ी चुनौती

 उत्तर प्रदेश में विधानसभा के चुनाव होने हैं, जिसके मद्देनजर सभी पार्टियां अपनी-अपनी रणनीति बना रही हैं. अपनी चुनावी मैदान में अच्छे खिलाड़ियों को अपनी तरफ करने का पूरा प्रयास भी चल रहा है ताकि जनमत में कुछ लाभ मिल सके. परंतु उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को एक बड़ा झटका लग गया है. 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा राहुल गांधी के करीबी जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल हो गए हैं. उन्होंने बुधवार को भाजपा की सदस्यता ही सदस्यता ग्रहण की. उन्हें यह सदस्यता पीयूष गोयल ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने दिलाई और उनका भाजपा परिवार में स्वागत किया. परंतु यूपी चुनाव से पहले यह कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका साबित हो सकता है क्योंकि जितिन प्रसाद उत्तरप्रदेश के वरिष्ठ नेता माने जाते हैं. ऐसे में उनका चुनाव से पहले इस तरह बीजेपी में शामिल होना कहीं ना कहीं विपक्ष को एक बड़ी चुनौती दे सकता है. अब यह देखना होगा कि भाजपा अपने चुनावी रण में किन किन रणनीतियों के साथ उतारती है. पर इतना तो तय है कि जितिन प्रसाद का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कुछ ना कुछ भूमिका तो रहने वाली है और भारतीय जनता पार्टी अपने चुनाव प्रचार में उनका सहारा अवश्य लेगी.