इस कोरोना काल में इलाज कर रहे मेडिकल स्टूडेंट को दी जाएगी प्राथमिकता

पिछले डेढ़ साल से चल रहा ये महामारी का दौर हम सब के लिए काफी कठिन रहा है। इस कोरोना काल में इलाज कर रहे मेडिकल स्टूडेंट को दी जाएगी प्राथमिकता

इस कोरोना काल में इलाज कर रहे मेडिकल स्टूडेंट को दी जाएगी प्राथमिकता

पिछले डेढ़ साल से चल रहा ये महामारी का दौर हम सब के लिए काफी कठिन रहा है। इस दौरान हमने अपनों को खोया है। इलाज करते-करते कई डॉक्टरों की भी जान चली गई। हम डॉक्टर को भगवान का रूप मानते हैं। इसमें कोई शक नहीं है कि वह हमारे लिए भगवान से कम नहीं है । लेकिन आखिर वह भी इंसान ही है। इस कोरोना काल में डॉक्टर, नर्स, अस्पताल के सभी कर्मचारी बिना छुट्टी लिए दिन रात एक कर के लोगों की जान बचाने में लगे हुए हैं। पूरे दिन पी पी किट में रहना कोई जंग जीतने से कम नहीं है । ऐसे में मेडिकल व नर्सिंग के छात्रों को प्राथमिकता देना तो बनता है।

पिछले वर्ष राज्य में चिकित्सकों की कमी के कारण सरकार ने अंतिम वर्ष में पढ़ने वाले पीजी मेडिकल ,एमबीबीएस व बीएससी नर्सिंग के छात्र छात्राओं को कोविड अस्पतालों में नियुक्त करने का निर्णय लिया । इसके लिए छह श्रेणियों में बहाली की जाएगी। इस बहाली के तहत सौ दिन तक कोविड अस्पताल में काम करना होगा। इसकी मानदेही भी तय कर दी गई है।