सोशल मीडिया की कंपनियों को करना होगा भारत सरकार के नियमों का पालन

सोशल मीडिया की कंपनियों को करना होगा भारत सरकार के नियमों का पालन

भारत सरकार अब सोशल मीडिया से जुड़ी कंपनियां जैसे फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम इन सब को लेकर सख्त हो गई है. भारत सरकार का साफ कहना है कि भारत के लोगों के प्राइवेसी पॉलिसी के साथ, उनके डाटा को सुरक्षित रखना सरकार की जिम्मेदारी है और लोगों की निजता का अधिकार भी. ऐसे में सरकार और इन कंपनियों के बीच आंखें तन गई हैं. कंपनियों का कहना है कि इससे सरकार यूजर्स के पर्सनल डाटा के ऊपर नजर रखेगी. जो कि कंपनी के टर्म्स एंड कंडीशन के विपरीत है. हालांकि भारत सरकार ने इनसे जुड़े कुछ विशेष नियम लाने की बात कही है, जिसमें कंपनियों को एक अनुपालन अधिकारी की नियुक्ति करनी होगी, एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति करनी होगी जो भारतीय होगा. इसके साथ ही शिकायत के निवारण के लिए भी एक अधिकारी होगा, जो यूजर्स की शिकायतों का निवारण करेगा. कंपनियां सरकार की इन शर्तों को मानने से इंकार कर रही हैं. व्हाट्सएप ने तो न्यायालय को दिए अपने उत्तर में यह कहा की इससे न केवल यूजर के निजी डेटा पर प्रभाव पड़ेगा बल्कि कंपनी की प्राइवेसी पॉलिसी पर भी. हालांकि अब यह देखना होगा कि क्या भारत सरकार और कंपनियों के बीच मध्यस्थता हो पाती है या कोई बीच का रास्ता निकलता है.