ट्रांसपेरेंट मास्क का निर्माण किया गया है, जानिए इसकी कीमत व खासियत

ट्रांसपेरेंट मास कब बनकर तैयार हो गया है चश्मे पहनने वाले लोगों और अस्थमा के मरीजों को नहीं होगी समस्या

ट्रांसपेरेंट मास्क का निर्माण किया गया है, जानिए इसकी कीमत व खासियत

भारत में जिस रफ्तार से कोरोनावायरस तेजी से फैल रहा है आज एक बहुत जरूरी हथियार है हालांकि वैक्सीन के निर्माण की खबर सुनते ही कुछ लोगों ने मास्को पहनना छोड़ दिया था वह इसकी गंभीरता नहीं समझ रहे थे लेकिन बढ़ते मामलों को देखते हुए मास्क पहनने की सलाह दी जा रही है अस्थमा के मरीजों और जो चश्मा पहनते हैं उनके लिए लगातार मास्क पहनना काफी मुश्किल होता है इन समस्याओं को देखते हुए वैज्ञानिकों ने पॉलीमर से बना पारदर्शी मास बनाया है जिसकी खुद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने भी तारीफ की है।

कुछ लोग मास्क पहनने से सांस की समस्या उत्पन्न हो रही थी इसलिए इस मास्क को बनाया गया है ज्यादातर अस्थमा के मरीज मास्क पहनने से बचते हैं,जो चश्मा पहनते हैं यदि वह नाक के ऊपर तक मास्क पहने तो शीशे में भाप आ जाती है और नाक के नीचे मांस पहनने का कोई महत्व नहीं रहता है इसलिए यह मास्क उनके लिए बेहद खास हैवही लगातार मास्क पहनने से बॉडी में ऑक्सीजन की कमी होती है लगती है जिसकी वजह से सर दर्द जैसी समस्या होती है उनके लिए यह ट्रांसपेरेंट मास्क एक सरल उपाय है।

स्मार्ट की कीमत महज 150-200रुपए में खरीदी जा सकती है हालांकि कुछ दिनों में इसके बाजार में आने के बाद इसकी कीमत और कम हो जाएगी आपको बता दें कि इसके अलावा एक चश्मा भी तैयार किया जा रहा है जिसे लगाने के बाद आप भी करो ना से सुरक्षित रहेगी जिसकी कीमत लगभग ₹250 के आसपास होगी।