ट्वीटर की हर किसी से अपील, विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र किया नियमो में बदलाव जाने नए नियम

भारत में ट्वीटर अब एक पंचायत की तरह हो गया है जहां हर तरह के मुद्दे पर बहस होना अनिवार्य हो गया है !

ट्वीटर की हर किसी से अपील,  विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र किया नियमो में बदलाव जाने नए नियम
तस्वीर : गूगल

भार में ट्वीटर अब एक पंचायत की तरह हो गया है जहां हर तरह के मुद्दे पर बहस होना अनिवार्य हो गया है , अब वो चाहे सत्ता पक्ष हो या विपक्ष सभी अब ट्वीटर का यूज़ कर रहे है और जानकारी के साथ साथ सामाजिक मुद्दे भी सामने रखते है

लेकिन कई बार इन प्लाट्फ़ोर्म पे चीजों को तोड़ मरोड़ के पेश किया जाता है , फ़ेक न्यूज़ फैलाए जाते है इस कारण से कई बार बात आगे बढ़ जाती है और लोग ग़लत जानकारी के चक्कर में हिंसा भी कर बैठते है

चुनाव के समय में ट्वीटर जैसे प्लाट्फ़ोर्म नेतागन के लिए प्रचार का एक ज़रिया भी बना हुआ है ,जाह नेता चुनाव से सम्बंधित जानकारी बताते है , वही कुछ लोग भ्रम फैला कर ग़लत न्यूज़ फैला कर अपना परोपोगेंडा चलाने  लगते है , और चुनाव के समय में यह सब आम हो जाता है

अब पाँच राज्यों में चुनाव का एलान हो चुका है तो ट्वीटर भी इस बार पहले से मुस्तैद है इन भड़काऊ ट्वीट और फ़ेक न्यूज़ को रोकने के लिए ट्वीटर ने खास तौर पर विधानसभा चुनाव के लिए एक वैश्विक टीम बनाई है जो स्थानीय , सांस्कृतिक और भाषा के साथ इलेक्शन इंटीग्रिटी वर्क चलाएगी ।इनका काम किसी भी न्यूज़ के साथ और ऐसे कांटेंट को देखना है जो हिंसा , विवाद और ख़तरों को तूल दे ।

ट्वीटर ने क्या कहा :

ट्वीटर ने चुनाव की तैयारी को लेकर कहा की हमारी सिविक इंतिग्रिटी नीतीयों को लागू करने का मतलब है , हम ऐसे कांटेंट को हटा देंगे जो चुनावमें  चुनाव में छेड़छाड़ करते है , फ़र्ज़ी या भ्रामक सूचना फैलाने वाले कांटेंट को हम हटाएँगे,

ट्वीटर किन सूचनाओं को हटाएगा

चुनाव प्रक्रिया में भाग लेने  के तरीक़ों के बारे में ग़लत सूचना को ट्वीटर रिमूव कर देगा

वह सूचना जिस से लोगों के मन में डर बैठे भ्रम हो जाए , मतदान को लेकर कोई भी ग़लत जानकारी जैसे मतदान केंद्र बंद है , मतदान पूरा होचुका है , कोई भी बटन दबाओ वोट सिर्फ़ फलाने पार्टी को ही जाएगा जैसे कांटेंट ट्वीटर से रिमूव किए जाएँगे

या कोई ऐसी जानकारी जो किसी नेता या पार्टी को लेकर ग़लत जानकारी देता हो ऐसे कांटेंट भी ट्वीटर से रिमूव होंगे

विज्ञापन के लिए राजनीतिक सामग्री से सम्बंधित नीति :

ट्वीटर ने 2019 में कोई भी राजनीतिक विज्ञापन देने बंद कर दिए थे , इस बारे में ट्वीटर  का कहना था की राजनीतिक मेसिज की पहुँच अपने आपहोनी चाहिए , ना की ख़रीद बिक्री की जानी चाहिए ।इस तरह ट्वीटर में राजनीतिक दलो के विज्ञापन लाने बंद कर दिए थे ।वही ट्वीटर प्रतबंधितराजनीतिक विज्ञापन रोकने के लिए आवश्यक कर्यवायी भी कर रहा है

चुनाव से सम्बंधित ट्वीट को लेकर ट्वीटर का सुझाव :

अगर आप किसी भी जानक़ारी के बारे में निशचिंत नहीं है तो वह जानकारी आगे शेयर ना करे , ख़राब या बिना जानकारी वाली सामग्री फैलाने सेबचे

सटीक जानकारी के लिए इलेक्शन इन्फ़र्मेशन प्रॉम्प्ट का उपयोग करे ,  अब यह बंगला , मलयालम , असमिया , हिंदी तमिल और अंग्रेज़ी मेंउपलब्ध है इलेक्शन इन्फ़र्मेशन प्रॉम्प्ट आपको अच्छी और सटीक जानकारी देने में उपयोगी है

हम सबसे अपील करते है की वो खुद को ट्वीटर के नियम से वाक़िफ़ कर ले ,  अगर आप ट्वीटर पे कुछ ऐसा देखते है जो ट्वीटर के नियमो काउलंघन करता है तो ऐसी जानकारी को रिपोर्ट किजिए