गढ़वा के सदर अस्पताल में ऑक्सीजन के लिए तड़पती रही दो महिलाएं, नहीं मिलने पर दोनों की मौत, डॉक्टर भागे

गढ़वा के  सदर अस्पताल में ऑक्सीजन के लिए तड़पती रही दो महिलाएं, नहीं मिलने पर दोनों की मौत, डॉक्टर भागे

सदर अस्पताल के ऑक्सीजन नहीं मिलने से दो मरीज के मौत के बाद परिजनों ने जमकर उत्पात जमाया। परिजनों ने सदर अस्पताल के नर्स रूम में तोड़- फोड़ करने के साथ ही आयुष्मान भारत के कार्यालय में भी तोड़ फोड़ किया। उक्त घटना में अस्पताल प्रबंधन का करीब 50 हजार रुपए के सामान का नुकसान होने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार पलामू जिले के सिगसिगी गांव निवासी रामचन्द्र राम की पत्नी पार्वती देवी को ऑक्सीजन लेवल घटने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां चिकित्सक डॉ सुशील कुमार रमन ने मरीज को देखकर दवा और ऑक्सीजन लगाने की बात कही।

सदर अस्पताल में भर्ती होने के बाद नर्स दवा लगाने वार्ड में गई। उसी दौरान परिजन दवा लगाने से पहले ऑक्सीजन लगाने की बात कहने लगे। उस पर नर्सो नें अस्पताल में ऑक्सीजन नहीं रहने की बात कही। उस पर परिजन भड़क गए और ऑक्सीजन नहीं लगाने पर दवा लगाने से भी मना कर दिया। उसी समय डंडई थाना क्षेत्र के बौलिया गांव निवासी राजमोहन की पत्नी लीलावती देवी भी सदर अस्पताल पहुंची। उसे भी ऑक्सीजन की ही समस्या थी। लीलावती को भी ऑक्सीजन नहीं लगा। भर्ती के कुछ देर बाद लीलावती की मौत हो गई। उसके बाद परिजन हंगामा कर ही रहे थे कि उसकी दौरान पार्वती की भी मौत हो गई। उसके बाद दोनों के परिजन आक्रोशित हो गए और तोड़- फोड़ करने लगे। नर्सो पर ही हमला करने की कोशिश की। उसके बाद आक्रोशित परिजन को देख नर्स और चिकित्सक अस्पताल छोड़ भाग खड़े हुए। उसके बाद उसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस सदर अस्पताल पहुंचकर मामले को शांत कराया।