आज से रांची में टीकाकरण शुरू, अब होगी Corona की छुट्टी।

आज से रांची में टीकाकरण शुरू, अब होगी Corona की छुट्टी।
Corona

कोरोना की वैक्सीन रांची पहुंच चुकी है। शनिवार से वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा। इसे लेकर सदर हॉस्पिटल में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं, जिससे शनिवार से ही कोरोना वैक्स इन होगा और कोरोना को आउट करने का आगाज हो जाएगा। जहां पहला टीका सफाई मित्रों को लगाया जाएगा। इसके बाद बाकी हेल्थ वर्कर्स का नंबर आएगा। इसे लेकर शुक्रवार को हेल्थ डिपार्टमेंट और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने सदर हॉस्पिटल में व्यवस्था का जायजा लिया।

वेरीफिकेशन के बाद ही वैक्सीनेशन-

वैक्सीन लगाने से पहले हेल्थ वर्कर्स को उनके मोबाइल पर मैसेज भेज दिया गया है। अब वैक्सीनेशन सेंटर पर उन्हें पहले अपना मैसेज दिखाना होगा। वहीं आईकार्ड से फोटो और नाम मिलान के बाद उन्हें अंदर भेजा जाएगा। इसलिए हर उस व्यक्ति को अपना आईकार्ड साथ में लाना होगा, जिन्हें टीका लगवाना है।सदर हॉस्पिटल के सेंटर में हर दिन 100 लोगों को वैक्सीन लगाने का टारगेट रखा गया है। लेकिन शुक्रवार को वैक्सीनेशन के आगाज को लेकर पीएम भी ऑनलाइन शुरुआत करेंगे तो बेनेफिशियरी कम हो सकते हैं। इसके बाद रेगुलर वैक्सीनेशन पर 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा।

पीएम से हो सकती है सफाई मित्रों की बात-

हेल्थ वर्कर्स की लिस्ट वैक्सीनेशन के लिए तैयार है। हर दिन टीका लगाने के लिए उन्हें मैसेज भेज दिया गया है। लेकिन पहले दिन के लिए पांच सफाई मित्रों को चुना गया है, जिन्हें पहले वैक्सीन लगाई जाएगी। वहीं पांच सफाई मित्र प्रधानमंत्री से भी बात कर सकते हैं। चूंकि टू वे कम्युनिकेशन की तैयारी रखने को कहा गया है।

 क्या है वैक्सीनेशन की व्यवस्थ।

 वेटिंग रूम: वैक्सीनेशन के लिए जिन्हें मैसेज मिल चुका है उन्हें टाइम से सेंटर पर पहुंचना होगा। जहां पर उनके बैठने की व्यवस्था की गई है। वहां आकर वे लोग इंतजार करेंगे। इसके बाद उन्हें एक-एक कर अंदर भेजा जाएगा।

वेरीफिकेशन रूम: लाभुक को अपना नाम और जानकारी देनी होगी। जहां से वेरीफिकेशन के बाद उसे वैक्सीन लगाने के लिए अंदर भेजा जाएगा। काउंटर पर उसके कागजात चेक किए जाएंगे। फिर उसे आगे भेज दिया जाएगा।

आब्जर्वेशन रूम: वैक्सीनेशन के तुरंत बाद हेल्थ वर्कर्स को आब्जर्वेशन रूम में रखा जाएगा। आब्जर्वेशन रूम में आधे घंटे मॉनिटर करने के बाद उसे जाने की छुट्टी दी जाएगी। इस बीच अगर कोई परेशानी लाभुक को होती है तो उसके लिए बेड तैयार रखे गए हैं।

एंबुलेंस तैनात: सदर हॉस्पिटल के बाहर एंबुलेंस तैनात रहेगी, जिससे कि अगर किसी लाभुक की तबीयत खराब होती है तो उसे तुरंत रिम्स या अन्य प्राइवेट हॉस्पिटल्स में इलाज के लिए भेजा जाएगा। हालांकि सदर हॉस्पिटल में भी डॉक्टरों की टीम को अलर्ट पर रखा गया है।