WhatsApp Privacy: व्हाट्सऐप प्राइवेसी पॉलिसी की 15 मई वाली डेडलाइन खत्म, पढ़ें पूरी खबर

WhatsApp Privacy: व्हाट्सऐप प्राइवेसी पॉलिसी की 15 मई वाली डेडलाइन खत्म, पढ़ें पूरी खबर

व्हाट्सऐप ने प्राइवेसी पॉलिसी के मामले में 15 मई की समय सीमा को समाप्त कर दिया. कंपनी ने कहा कि यूजर्स द्वारा शर्तें स्वीकार नहीं किये जाने की स्थिति में कोई अकाउंट हटाया नहीं जाएगा. कंपनी ने कहा, जो यूजर्स उसकी निजता नीति की शर्तें स्वीकार नहीं करते हैं उन्हें वह अगले कई सप्ताह तक इस संबंध में याद दिलाती रहेगी.

इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर एक बार फिर सुर्खियों में है. अब व्हाट्सऐप ने नयी पॉलिसी तैयार की है, जिसमें पहले आपको 15 मई तक व्हाट्सऐप की नयी प्राइवेसी पॉलिसी को मंजूर करना था. कंपनी ने इससे जुड़ी नयी गाइडलाइंस तैयार कर ली हैं.

पिछली बार हुए विवाद को देखते हुए कंपनी इस बार पूरी सावधानी बरत रही है. WhatsApp की ओर से नयी प्राइवेसी पॉलिसी की मंजूरी को लेकर डेडलाइन भी तय कर दी थी. कंपनी ने यूजर्स के सामने यह शर्त रखी थी कि उन्हें 15 मई तक नयी प्राइवेसी पॉलिसी मंजूर करनी होगी.

WhatsApp ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि अगर कोई यूजर इस पॉलिसी को स्वीकार नहीं करता है, तो उसका अकाउंट बंद कर दिया जाएगा. यानी उस अकाउंट पर न कोई मैसेज आएगा और न मैसेज भेजा जा सकेगा. इस बार कंपनी इस पॉलिसी को टालने के मूड में बिल्कुल नहीं है.

अगर यूजर्स नयी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करते, तो उनका अकाउंट 120 दिनों के बाद अपने आप बंद हो जाएगा. इसका मतलब यह कि कंपनी की नयी शर्तें नहीं माननेवाले यूजर्स 120 दिनों बाद अपना अकाउंट यूज नहीं कर सकेंगे. नयी पॉलिसी को लेकर कंपनी यूजर्स को नोटिफिकेशन भी दे रही है.

WhatsApp की नयी शर्तों को लेकर सबसे ज्यादा विरोध भारत में हो रहा है. व्हाट्सऐप की इस नयी पॉलिसी से लोगों में काफी नाराजगी है कि व्हाट्सएप अब अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ ज्यादा डेटा शेयर करने की योजना बना रहा है. हालांकि व्हाट्सएप ने साफ किया है कि ऐसा नहीं होगा, बल्कि यह अपडेट असल में बिजनेस अकाउंट्स से जुड़ा है.

WhatsApp अपने यूजर्स को नयी प्राइवेसी पॉलिसी अपनाने के लिए नोटिफिकेशन भेज रही है. इतना ही नहीं, पॉलिसी को लेकर लोगों के मन में उठ रहे कंफ्यूजन को भी दूर करने की भी पूरी कोशिश कर रही है. पिछले ही ​दिनों कंपनी ने अपने यूजर्स को स्टेटस के माध्यम से लोगों को बताने की कोशिश की थी कि नयी प्राइवेसी पॉलिसी पूरी तरह से सिक्योर है और आपका डेटा बिल्कुल सुरक्षित रहेगा. कंपनी ने यह भी कहा था​ कि यूजर्स के पर्सनल मैसेज हमेशा की तरह एंड टू एंड एन्क्रिप्टेड होंगे और व्हाट्सऐप पर उन्हें सुना या पढ़ा नहीं जा सकता है.