ओडिशा-बंगाल में तबाही करने के बाद बिहार पहुंचा यास, कई जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश

ओडिशा-बंगाल में तबाही करने के बाद बिहार पहुंचा यास, कई जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश

ओडिशा-बंगाल में भारी तबाही बचाने के बाद चक्रवात यास बिहार पहुंच चुका है। भागलपुर, सुपौल, कटिहार और पूर्णिया समेत कई जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। अभी तक राज्य के किसी भी जिले से जान माल के नुकसान की खबर नहीं मिली है। बुधवार को मौसम विभाग ने बताया कि बिहार में चक्रवात यास कम प्रभावी होकर डिप्रेशन में बदल जाएगा। यहां इसकी रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटे रह जाएगी।

इससे पहले बुधवार को तेज हवा और बारिश से ओडिशा और बंगाल के सैकड़ों तटीय गांवों में पानी भर गया और लाखों घर उजड़ गए। बंगाल में तीन और ओडिशा में एक व्यक्ति की मौत हो गई। सिर्फ बंगाल में ही एक करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं।

बिहार में तूफान का विशेष प्रभाव दो दिन यानी 27 से 28 मई तक रहेगा। इस दौरान राज्य में 40 किलोमीटर प्रति प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। कई इलाकों में तेज बारिश के साथ वज्रपात की आशंका है। मौसम विभाग ने इसे लेकर येलो अलर्ट जारी किया है।

बुधवार शाम सात बजे तक यह झारखंड में प्रवेश कर चुका था, जहां इसकी गति काफी धीमी हो गई है। 

बिहार में यहां पड़ेगा असर
उत्तर पश्चिम:
 अगले दो दिनों में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश के साथ आकाशीय बिजली गिरने के आसार
उत्तर मध्य : अगले दो दिनों में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश, आकाशीय बिजली गिरने के आसार
उत्तर पूर्व: अधिकांश स्थानों पर अगले तीन दिन गरज के साथ बारिश
दक्षिण पश्चिम: गुरुवार को एक या दो स्थानों पर भारी बारिश, तेज हवा और मेघ गर्जन के साथ वज्रपात भी
दक्षिण मध्य: गुरुवार को एक या दो स्थानों पर भारी बारिश, तेज हवा और मेघ गर्जन के साथ वज्रपात भी
दक्षिण पूर्व: शुक्रवार-शनिवार को एक या दो स्थानों पर भारी बारिश , तेज हवा और मेघ गर्जन के साथ आकाशीय बिजली गिरने के आसार